क्या है योगी सरकार की ये नई योजना, किस को होगा लाभ

Kayakalp Yojana: सरकारी स्कूलों का कायाकल्प करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीड़ा उठा लिया है और इसी क्रम में उन्होंने कायाकल्प योजना (Kayakalp Yojana) का शुभारंभ किया है। इस योजना के तहत कानपुर ( देहात ) के 1933 सरकारी प्राथमिक और जूनियर स्कूलों को निजी स्कूलों की तर्ज पर विकसित किया जायेगा और उनमें सभी प्रकार की सुविधाएं विकसित  करके बच्चो को सरकारी स्कूल में दाखिला लेने और पढ़ रहे बच्चो को वही बने रहने हेतु प्रोत्साहित किया जायेगा।  सरकारी स्कूलों की शक्ल सूरत सुधारने हेतु मुख्यमंत्री द्वारा की गयी इस पहल का सभी लोग स्वागत कर रहे हैं।

स्कूलों के कायाकल्प हेतु क्या है मुख्यमंत्री योगी की कायाकल्प योजना

कायाकल्प योजना के अंतर्गत सरकारी स्कूलों को भी निजी स्कूलों की भांति चमकाया जायेगा क्यूंकि सरकारी स्कूलों की जर्जर हालत, सफाई की कमी, पानी की समुचित व्यवस्था न होने, रंग रोगन समय समय पर ना होने से और मैदान जैसी व्यवस्था न होने से न सिर्फ अभिभावक बच्चो को स्कूल भेजने से कतराते है बल्कि बच्चे भी मन लगाकर नहीं पढ़ते। इस व्यवस्था को बदलने के लिए कायाकल्प योजना शुरू की गयी है जिसके तहत सरकारी स्कूलों में शौचालय, पीने के पानी हेतु समुचित व्यवस्था, जर्जर बिल्डिंगो में सुधार, रंग रोगन, टाइल्स बिछाना, स्कूल के चारो और बॉउंड्री वाल, दिव्यांग रैंप, अच्छी गुणवत्ता वाली ब्लैकबोर्ड, एवं वृक्षारोपण जैसे कार्य किये जायेंगे जिससे न सिर्फ बच्चे सरकारी स्कूलों में आने को प्रोत्शाहित होंगे बल्कि मन लगाकर अध्ययन  भी करेंगे।

योगी सरकार की नई Kayakalp Yojana – कार्य जल्द पूरा होने की उम्मीद

इस कार्य को पूरा करने हेतु कानपुर (देहात) के प्राथमिक शिक्षा विभाग ने कमर कस ली है। विभाग अपने स्तर पर इस कार्य को जल्द से जल्द पूरा करवाना चाहता है। इस योजना (Kayakalp Yojana) की गति पंचायती चुनावो के कारण मंद हो गयी थी परन्तु अब पंचायती चुनाव निपट जाने के कारण  इसकी पुनः तीव्र गति से पूरा होने की उम्मीद है। प्राथमिक शिक्षा विभाग ने इस योजना के अंतर्गत किये जाने वाले कार्यो की बिंदुवार सूची  पंचायती राज विभाग को सौंप दी है जिसके तहत स्कूलों का कायाकल्प किया जाना है। पानी की समुचित व्यवस्था  हेतु ख़राब हैंडपंपों को सही करना , सुरक्षा हेतु बॉउंड्री वाल , रंग रोगन के साथ आकर्षक पेंटिंग जैसे कार्य इस योजना का हिस्सा है। इन कार्यो को पूरा करने हेतु युद्धस्तर  पर कार्य किया जा रहा है जिससे इनका जल्द पूरी होने की उम्मीद है।

आम आदमी की बच्चो को अच्छी शिक्षा का सपना होगा पूरा  

इस योजना से उन गरीब परिवारों जिनके बच्चे आर्थिक समस्या के कारण  महंगे निजी विद्यालयों में दाखिला नहीं ले पाते के लिए उम्मीद की किरण जगी है।  अब उन्हें भी आस है की सरकारी स्कूलों में   निजी स्कूलों जैसी सुविधाएं होने के कारण उनके बच्चे भी सुनहरा भविष्य बनाने में समर्थ होंगे।  आम आदमी जो निजी स्कूलों की महंगी फीस देने में असमर्थ होने के कारण हताश थे उनके लिए ये योजना किसी वरदान सरीखी है।

सुनहरे भविष्य की आस 

अगर इस Kayakalp Yojana का सही तरीके से क्रियान्वयन किया गया तो न सिर्फ अभिभावक अपने बच्चो को सरकारी स्कूलों में भेजने हेतु प्रेरित होंगे बल्कि सरकारी स्कूलों में बच्चो का तीव्र गति से घटते अनुपात पर भी लगाम लगाई जा सकेगी। इस योजना से आम अभिभावकों की सरकारी स्कूलों के प्रति उदासीनता भी दूर होगी हुए बच्चे भी पढ़ने हेतु प्रोत्शाहित होंगे। इस योजना के सही क्रियान्वयन से अन्य राज्यों को भी प्रेरणा मिलेगी और देश मैं शिक्षा का स्तर ऊँचा होगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: