सरकार सब्सिडी पर दे रही है बांस के उन्नत पौधे, किसान ऐसे करे ऑनलाइन आवेदन

Bamboo Subsidy Yojana: हमारे देश में किसानों की मूल आय का स्रोत उनकी कृषि ही है। लेकिन मौसम में पिछले कुछ सालों में आये बदलावों के चलते किसान कृषि को लेकर बहुत ही चिंतित हैं। ऐसे में सरकार द्वारा अब किसानों को बांस की खेती करने पर सब्सिडी प्रदान की जाती है। यदि किसान बांस की खेती करते हैं तो उन्हें 50 हजार रूपए की सब्सिडी दी जाएगी। देश में बांस की खेती को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार द्वारा राष्ट्रीय बांस मिशन (National Bamboo Mission) चलाया जा रहा है। जिसके अंतर्गत किसानों को सब्सिडी (Bamboo Subsidy Yojana) दी जा रही है जिस से ज्यादा से ज्यादा किसान इस ओर आकर्षित हों।

क्या है राष्ट्रीय बांस मिशन– Bamboo Subsidy Yojana

राष्ट्रीय बांस मिशन सरकार द्वारा किसानों को बांस की खेती करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए चलाया जा रहा है। इस मिशन के अंतर्गत देश में इस समय 125 स्वदेशी और 11 विदेशी प्रजातियों को मिलाकर कुल 136 बांस की प्रजातियां हैं। National Bamboo Mission के तहत सभी किसानों को बांस की खेती करने पर 50000 रूपए की सब्सिडी दी जाएगी। यही नहीं छोटे किसानों को प्रत्येक बांस के पौधे पर 120 रूपए की सब्सिडी दी जाएगी। ताकि पिछले कुछ वर्षों से बांस की खेती में आयी कमी को पूरा किया जा सके। साथ ही आज के समय में जो हम बांस के सामान का आयात बैंकॉक , थाईलैंड और चीन से करते हैं वो सभी अपने देश में ही तैयार हो सके। इस से हमारे देश की आमदनी भी बढ़ेगी और आत्मनिर्भरता भी।

भारत बांस की खेती में दूसरा बड़ा देश

जी हाँ। हमारा देश विश्व में बांस की खेती में दूसरे स्थान पर आता है। पहले स्थान पर इस मामले में चीन है। हमारे देश में प्रति वर्ष 13.96  मिलियन टन बांस का उत्पादन होता है। जैसे की हम जानते ही हैं की बांस की खेती के लिए किसी तरह की कोई खास जमीन नहीं चाहिए , जिससे इसकी खेती कहीं भी करना आसान होता है।

क्या लाभ हैं बांस लगाने से

  • बांस के पौधे लगाने के लिए कोई खास प्रकार की जमीन या फिर किसी खास देखरेख की आवश्यकता नहीं होती।
  • चार साल बाद किसान इसकी कटाई कर सकते हैं। जिसके बाद भी ये बढ़ता ही रहता है।
  • इसकी उम्र लगभग 40 से 50 वर्ष की होती है। हर साल 3 से 4 लाख तक का मुनाफा देता है।
  • आज बांस का कई महत्वपूर्ण सामान बनता है जिसकी वजह से उसकी मांग में भी बढ़ोतरी होती है।
  • आने वाले समय में भी इसकी मांग में कमी नहीं आएगी जिस से किसानों की आय भी दुगनी होगी।

ऐसे करें Bamboo Subsidy Yojana आवेदन

सभी इच्छुक किसान बांस के पौधे प्राप्त करने के लिए किसान वनमंडल अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं। इसके बाद उन्हें उन्नत बांस के पौधे दिए जाएंगे। इन्हे किसान अपने खेतों में निर्धारित उचित दूरी पर लगा सकते हैं। साथ ही जानवरों के चारे के लिए भी वो इन पौधों के साथ अन्य पौधे या घास आदि भी लगा सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: