10वीं किस्त पाने के लिए जल्दी करा लीजिए रजिस्ट्रेशन, ये रहा स्टेप-बाय-स्टेप प्रोसेस

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) केंद्र सरकार द्वारा देश के मंझोले और छोटे किसानों के परिवारों (भूस्वामित्व वाले) हेतु 100 % केंद्र सरकार द्वारा वित पोषित योजना है जिसके अंतर पात्र किसानो को 6000 रुपए की वार्षिक सहायता प्रदान की जाती है। यह धनराशि 2000 हजार रुपया की तीन समान किश्तों में प्रदान की जाती है। परिवार की परिभाषा किसान व्यक्ति ,उसकी पत्नी और बच्चे है। केंद्र सरकार द्वारा इस PM kisan योजना के पात्र व्यक्तियों को चयनित करने का काम राज्य सरकारों एवं केंद्रशासित प्रदेशो को दिया गया है। इस योजना के द्वारा देश के उन करोड़ो छोटे व मंझोले किसान परिवारों को लाभ पंहुचा है जो कृषि से अपनी आजीविका कमाते है। इससे उन्हें आर्थिक सहायता मिलेगी व वे अधिक उत्पादन करने मैं सक्षम होंगे।

क्या जरुरी है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

जैसा की हम सभी जानते है की भारत एक कृषि प्रदान देश है और यहाँ की आबादी का एक बहुत बड़ा हिस्सा कृषि कार्यो में लगा है। देश के ग्रामीण क्षेत्रों में तो अधिकाँश आबादी के रोजगार का जरिया ही कृषि है और इसी से वे अपना परिवार चलते है। कृषि का हमारे देश की अर्थव्यवस्था में भी बहुत बड़ा योगदान है। भारत मैं अधिकतर कृषक मंझोले और छोटे किसान है जो भूमि का बहुत छोटा हिस्सा ही रखते है। इन किसानो को कृषि कार्यो हेतु विभिन ओजारो ,बीज , कीटनाशक ,भंडारण और अन्य कृषि कार्यो हेतु ऋण की आवश्यकता पड़ती है जिसे यह असंगठित क्षेत्र के व्यक्तियों से लेते है और कर्ज के जाल मैं फंस जाते है और अभिसप्त जीवन जीने को मजबूर होते है। इस योजना से न सिर्फ वह कृषि हेतु आवश्यक चीजें खरीद सकते है अपितु कर्ज के जाल से बचकर अपना कृषि उत्पाद भी बढ़ा सकते है और परिवार को अच्छा जीवन दे सकते है।

अब तक किसान सम्मान निधि योजना योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा 9 किस्तें जारी की जा चुकी है और जल्दी ही दसवीं किस्त जारी की जाने की भी संभावना भी है। अत यदि आप भी इस योजना हेतु पात्र है और इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो जल्दी से रजिस्ट्रेशन करके आप इस योजना का लाभ उठा सकते है। आइये जानते है कैसे आप इसके लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते है।

इस योजना में रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए आपके पास निम्न दस्तावेज होने जरुरी है

  • भू स्वमित्व वाली दस्तावेज अर्थात जमीन के कागज़
  • बैंक अकाउंट की डिटेल्स
  • राशन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर

PM Kisan 10 वीं किस्त पाने के लिए ये है रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

इस योजना का लाभ लेने के लिए जो भी पात्र व्यक्ति पंजीकरण करवाना चाहता है वह इन चरणों को फॉलो करे।

  1. सर्वप्रथम आप इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाये जहाँ आपके सामने होम पेज खुल जायेगा। यहाँ दाए कोने में NEW FARMER REGISTRATION का विकल्प होगा।
  2. NEW FARMER REGISTRATION के विकल्प पर CLICK करके आपके सामने NEW FARMER REGISTRATION FORM का पेज खुलेगा।
  3. इस पर आप भाषा का चयन कर सकते है और साथ ही साथ आपको ग्रामीण या शहरी किसान में विकल्प चुनना होगा। इसमें मांगी गयी अन्य जानकारिया जैसे आधार डिटेल्स, मोबाइल no ,राज्य का चुनाव करे। इसके पश्चात आप send OTP का चयन करे। इसके पश्चात OTP दर्ज करने के पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  4. इस पेज आपको अपनी सम्पूर्ण मांगी गयी जानकारिया जैसे खाता विवरण, बैंक डिटेल्स एवं जमीन का विवरण और इसी प्रकार की अन्य जो जानकारिया है भरनी है।
  5. अपनी बैंक डिटेल्स जिसमें आप इस योजना की निधि का लाभ प्राप्त करना चाहते है उसी को दें।
  6. सभी जानकारियां भरने के बाद चेक कर लें की सभी जानकारिया सही है और इसके पश्चात आप इसे सब्मिट कर दे।
  7. अब आपकी दी गयी जानकारी को अधिकारियों द्वारा जांच करने के पश्चात अप्रूवल के बाद आपको इस योजना का लाभ मिलने लगेगा।

इस योजना में आप लाभार्थी के बारे में भी पूरी जानकारी ले सकते है जैसे की उसे अभी तक कितनी किस्तें प्राप्त हो चुकी है। इसके लिए आपको निम्न स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

  • सबसे पहले इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://www.pmkisan.gov.in/ पर जाये।
  • होम पेज पर आपके सामने BENEFICIERY STATUS विकल्प आएगा जिस पर आप क्लिक करके एक नए पेज पर होंगे।
  • इसमें आप लाभार्थी (BENEFICIERY) को 3 प्रकार के विकल्पों से खोज सकते है – आधार NO द्वारा, अकाउंट NO द्वारा एवं मोबाइल NO द्वारा आप जो चाहे विकल्प चयन कर सकते है।
  • इसके बाद आपके पास लाभार्थी का पूरा ब्यौरा होगा।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना भारत के किसानो जो की छोटी जमीन के मालिक है के लिए बहुत अधिक लाभकारी है क्यूंकि इससे वह अपना उत्पादन बढ़ने में सक्षम होंगे और भारत की कृषि उत्पाद बढ़ने से हम न सिर्फ खाद्यान मेंआत्मनिर्भर बन जायेंगे बल्कि हम निर्यात भी कर पाएंगे जिससे न सिर्फ किसानो की आमदनी बढ़ेगी बल्कि वे अपने परिवार को अच्छा भविष्य भी दे पाएंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: