REET Exam में बिना Coaching लिए ही 142 अंक हासिल किये-Regular पढाई करते रहना जरुरी बताया |

REET Exam में बिना Coaching लिए ही 142 अंक हासिल किये, Kavita Jhord & Alka Jhord ने बताया कि परीक्षा में सफलता के लिए Regular पढ़ाई करना जरुरी है, दोनों महिला अभ्यर्थियों ने घर पर रहकर ही REET में अच्छे अंक प्राप्त किये, परिवार वालो ने माला पहनाकर स्वागत किया |

26 सितंबर 2021 में आयोजित हुई रीट की परीक्षा में ऐसे लाखों उम्मीदवार शामिल थें जिन्होंने जी जान लगाकर रीट की परीक्षा के लिए मेहनत की थी। आप ने अक्सर सुना ही होगा कि व्यक्ति मेहनत और लगन के बल पर बड़े से बड़ा मुकाम हासिल कर सकता हैं। वैसे तो आज के समय में बड़े-बड़े इंस्टिट्यूट खुल गए हैं ,जो उम्मीदवारों को भर्ती परीक्षाओं के लिए काफी अच्छी तैयारियां करवाते हैं जिसके बल पर उम्मीदवार काफी अच्छे अंक भी प्राप्त करते हैं।

ऐसे बहुत कम उम्मीदवार होते हैं जो बिना किसी की मदद के काफी अच्छे अंक प्राप्त करते हैं। जब राजस्थान राज्य में रीट की परीक्षा आयोजित हुई थी, तो इस परीक्षा में 2 ऐसी भी छात्राएं मौजूद थी जिन्होंने किसी भी Coaching Center से Coaching नहीं प्राप्त की थी और फिर भी उनका नाम REET Exam के Toper’s में शामिल है। इन दोनों ही छात्राओं ने Reet 2021 Exam में काफी अच्छे अंक प्राप्त करके अपने माता-पिता के साथ-साथ प्रदेश का नाम भी ऊंचा किया है।

रीट की परीक्षा में अधिक अंक आने पर दोनों महिला अभ्यर्थियों का फूल की माला पहना कर किया अभिनंदन

रीट की परीक्षा में 2 महिला अभ्यर्थियों ने स्वयं ही पढ़ाई करके शानदार सफलता हासिल की हैं। बताया जा रहा है कि Kavita Jhord ने REET Level 2 की परीक्षा में 150 में से 142 अंक हासिल किए हैं और Alka Jhord ने 150 में से 140 अंक हासिल किए हैं। जो उम्मीदवार किसी अच्छे Coaching Center से Coaching लेकर इतने अंक प्राप्त करता है, तो उसके लिए तो यह बड़ी बात नहीं होती l

Kavita Jhord & Alka Jhord ne REET me achhe ank hasil kiye

लेकिन जो व्यक्ति विपरीत परिस्थितियों में भी खुद ही काफी अच्छी पढ़ाई करके इतने ज्यादा अंक हासिल करता हैं, तो उसके लिए यह बहुत ही बड़ी बात हैं। जब रीट की परीक्षा का रिजल्ट आया तो उसके पश्चात इन दोनों ही छात्राओं का अभिनंदन फूलों की माला पहना कर और मिठाई खिलाकर किया गया।

काफी बुरे हालातों में की है पढ़ाई

भर्ती परीक्षाओं में शामिल होने वाली दूसरी लड़कियों को भी इनसे प्रेरणा लेनी चाहिए। क्योंकि यह दोनों ही लड़कियां काफी गरीब परिवार से हैं और अपने घर पर पढ़ाई के साथ-साथ कामकाज में भी हाथ बटाती हैं। इन दोनों ही लड़कियों के परिजनों ने बताया कि यह दोनों लड़कियां घर के काम के साथ-साथ खुद ही पढ़ाई करती थी। इनके परिजनों ने यह भी कहा कि कोचिंग लेना जरूरी नहीं होता है, बस रेगुलर पढ़ाई जरूरी होती हैं। यदि आप मन लगाकर अच्छे से पढ़ाई करते हैं, तो आप खुद भी किताबें पढ़कर काफी अच्छे अंक हासिल कर सकते हैं।

स्कूल के समय से ही थी दोनों अब्बल छात्राएं

इन दोनों ही लड़कियों ने स्कूल की पढ़ाई Malviya Public School से पूरी की है। वहां के प्रधानाचार्य राजीव शर्मा जी ने यह बताया है कि यह दोनों स्कूल के समय से ही काफी होनहार हैं और हमेशा ही पढ़ाई में सभी छात्रों से अब्बल रहती थी। इसी वजह से आज उन्होंने बिना कोचिंग लिए ही इतने अच्छे अंक प्राप्त किए हैं l जिसकी वजह से इनके माता-पिता का सिर भी गर्व से ऊंचा हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: